हड़प्पा सभ्यता के बारे में ज्ञानवर्धक जानकारी

हड़प्पा सभ्यता को सिन्धु घाटी सभ्यता या सिन्धु सरस्वती सभ्यता भी कहा जाता है | सिन्धु घाटी सभ्यता bronze age सभ्यता है | यह सभ्यता बलूचिस्तान से लेकर गुजरात और पंजाब में झेलम नदी तक फैली हुई थी |

अंग्रेजी भाषा में इस सभ्यता को Indus Valley Civilization भी कहा जाता है | इस लेख में हम आपको Indus Valley Civilization के बारे में hindi में विस्तार से बताएंगे |

हम आशा करते हैं इस लेख को पढने के बाद आपको सिन्धु घाटी की उस महान सभ्यता के बारे में विस्तृत जानकारी मिल जाएगी |

आप और किस विषय के बारे में हमसे जानना चाहते हैं आप हमें नीचे दिए कमेंट बॉक्स में बता सकते हैं | हम उस विषय की सम्पूर्ण जानकारी आपके सामने लाने की कोशिश करेंगे |

Indus valley civilization in hindi
By Sara jilani (Own work) [CC BY-SA 3.0], via Wikimedia Commons 

Indus Valley Civilization in Hindi

इस समय दुनिया में प्राचीन मिस्त्र और Mesopotamia जैसी सभ्यताए भी थी | प्राचीन समय में जो भी सभ्यताए थी वो सभी नदियों के किनारों पर बसी हुई थी |

क्यूंकि किसी भी सभ्यता के विकास और जीवन यापन के लिए पानी सबसे बड़ी प्राथमिकता होती है | जैसे प्राचीन मिस्त्र सभ्यता नील नदी के किनारे बसी हुई थी |

Mesopotamia सभ्यता within the Tigris–Euphrates river system, (दजला एव फरात) नदियों के बीच में फैली हुई थी | उसी तरह से सिन्धु घाटी सभ्यता सिन्धु नदी के किनारे फैली हुई थी |

सिन्धु घाटी सभ्यता अपनी अदभुत इंजीनियरिंग, अच्छी तरह से नियोजित शहरो और drainage system के लिए आज भी दुनिया के लिए प्रेरणा और बहस का विषय है |

हड़प्पा सिन्धु घाटी सभ्यता के सबसे मुख्य शहरो में से एक था और सबसे पहले archaeologists के द्वारा इस शहर की खोज की गयी थी |

क्यूंकि इस शहर से सबसे पहले इस सभ्यता के unique archaeological evidences मिले थे | इसलिए इस सभ्यता को हड़प्पा सभ्यता के नाम से भी जाना जाता है | इस सभ्यता को 8000 वर्ष से भी अधिक पुराना माना जाता है |

यह सभ्यता 2500 – 1700 ईसापूर्व तक मानी जाती है |

Discovery of Indus Valley Civilization

सबसे पहले हड़प्पा सभ्यता के अवशेषों के बारे में British East India Company के एक सिपाही और खोजकर्ता Charles Masson जिन्हें James Lewis भी कहा जाता था उसने पता लगाया था |

उसने अपनी किताब Narrative of Various Journeys in Baluchistan, Afghanistan and The Punjab में इस बात का जिकर किया है

वो यहाँ से जाते हुए अपने साथ हजारो सिक्के और दूसरी चीजे ले गया था जो अब  British Museum में रखी हैं |

सन 1856 में जब अंग्रेज लाहौर और कराची को जोड़ने के लिए एक रेलवे ट्रैक का निर्माण कर रहे थे तो मजदूरों को अच्छी तरह से पक्की हुई और एक ही आकार की बहुत सी ईंटें मिली |

उस समय जॉन  Brunton जो की ब्रिटिश इंजिनियर थे वो बताते हैं की उन्हें रेलवे ट्रैक के निर्माण के लिए उस जगह से पत्थर और एक आकार की इंटें मिली थी |

इसके बाद सन 1875 में Alexander Cunningham Director General of the Archaeological Survey ने पहली हरप्पा सभ्यता की सील को पब्लिश किया | इसके बाद 1912 में J. Fleet के द्वारा कुछ सील की खोज की गयी |

फिर 1921 में  Sir John Hubert Marshall की अध्यक्षता में दया राम साहनी और दुसरे लोगो ने सिन्धु घाटी सभ्यता की खोज की |

1921 में पंजाब प्रान्त में harappa city और सन 1922 में सिन्धु नदी के किनारे mohenjo daro शहर की खोज हुई | आज ये दोनों जगह पाकिस्तान में हैं | Mohenjo-Daro को UNESCO के द्वारा 1980 में World Heritage Site का दर्जा दिया गया था |

हड़प्पा और Mohenjo-Daro इस सभ्यता के मुख्य शहर थे इन शहरो का निर्माण जिस तरह से किया गया था उस तरह का निर्माण उस समय में दुनिया में कहीं भी नहीं था चाहे फिर वो बाढ़ से सुरक्षा की बात हो,

गलियों का निर्माण हो, घरो को बनाने के लिए इस्तेमाल में लायी जाने वाली ईंटो की बात हो, पानी की संरक्षित रखने या फिर advanced sanitation system की बात हो |

Indus Valley Civilization Facts

Drainage System of Indus Valley Civilization

अब तक की गयी खोजो के अनुसार घरो में टॉयलेट, बाथरूम और sewage सिस्टम तक की व्यवस्था थी | घरो में पानी के लिए अलग अलग कुँए बने हुए थे |

गंदे पानी की लिए अंडरग्राउंड नालियों का निर्माण किया जाता था | घरो का कूड़ा कर्कट और waste water एक जगह इकठा होता था जिसे बाद में खेतो में खाद के रूप में इस्तेमाल किया जाता था |

घरो में आज के समय के फ्लश टॉयलेट उस समय में बने हुए थे इसके साथ ही attach बाथरूम और टॉयलेट का कांसेप्ट उस समय के गृह निर्माण में दिखाई देता है |

उस समय का sewage system और drainage सिस्टम आज के किसी बड़े मेट्रो शहर के जैसा या कह सकते हैं उससे भी ज्यादा आधुनिक था |

नहाने का बड़ा तालाब advance इंजीनियरिंग का नमूना था | हालाँकि इस तालाब का सही मकसद नहीं पता चला है लेकिन हिन्दू रिवाजो के अनुसार इसे आत्मा शुद्धि जैसे कार्यो के लिए इस्तेमाल किया जाता होगा |

Medical Surgery & Knowledge of Dentistry

हड़प्पा सभ्यता के लोग आज की मेडिकल साइंस से आगे रहे होंगे क्यूंकि अवशेषों की जांच से तो यही लगता है |

दुनिया के सबसे पहले dentist हड़प्पा सभ्यता के लोग थे क्यूंकि 2001 में जब पुरातत्व विभाग के लोग मेहरगढ़ पाकिस्तान में दो लोगो के अवशेषों की जांच कर रहे थे तो उन्होंने बताया की उस समय के लोगो को आधुनिक दंत चिकित्सा विज्ञान की भी जानकारी थी |

बाद में April 2006 में scientific journal Nature में इस बात को बताया गया की दुनिया में किसी जीवित व्यक्ति में drilling of human teeth का प्रमाण मेहरगढ़ में मिला था |

इसके बाद भी पुरातित्वो को कुछ ऐसे प्रमाण मिले जिसके आधार पर वो कह सकते थे की उस समय के लोग दन्त चिकित्सा विज्ञान और मेडिकल सर्जरी की जानकरी रखते थे |

Most Precise Measurement Techniques

इस सभ्यता के लोगो ने किसी भी पदार्थ को नापने, मापने और तोलने के लिए अपना एक सिस्टम तेयार कर लिए था | उनकी किसी चीज की लम्बाई, भार और समय को मापने की accuracy सबसे सही थी |

यह बात गुजरात में मिली एक मापने वाली रोड से पता चलती है | इस पर मापने की सबसे छोटी इकाई 1.7 mm पर है जो की उस काल की सबसे छोटी इकाई है |

लेकिन इतिहासकारों का मानना है की उस समय के लोग decimal subdivisions का इस्तेमाल किया करते थे जो की एक इंच के 0.005 भाग तक सटीक होती थी |

पुराताताविदो को वहां पर कुछ पत्थर के cubes भी मिले हैं जिन्हें भार तोलने के लिए इस्तेमाल किया जाता होगा और जिनका भार 5:2:1 के अनुपात में बढ़ता है और जिनकी इकाई 0.05 से लेकर 500 थी |

Largest Site of Indus Civilization

Indus civilization में अब तक भारत, पाकिस्तान और अफगानिस्तान में 2000 साइट्स मिल चुकी हैं जिनमें से मोहनजोदड़ो को सबसे बड़ी साईट माना जाता रहा है | 

मोहनजोदड़ो का कुल क्षेत्रफल 300 हेक्टयेर है | लेकिन The Hindu की एक रिपोर्ट के अनुसार अब खोजकर्ताओं ने Rakhigarhi साईट की ओर जगह को खोज लिया है |

जिसके बाद माना जा रहा है कि अब Rakhigarhi का कुल क्षेत्रफल 350 हेक्टेयर हो गया है और ये इस सिविलाइज़ेशन की सबसे बड़ी साईट बन गयी है | (1)

इससे पहले इन साइट्स को सबसे बड़ी से छोटी के क्रम में इस प्रकार रखा जाता था |

  1. Mohenjo-daro (Pakistan)
  2. Harappa (Pakistan)
  3. Ganweriwala (Pakistan)
  4. Rakhigarhi (India)
  5. Dholavira (India)

Oldest Civilization in The World

अभी तक हड़प्पा सभ्यता को केवल 5500 वर्ष पुरानी सभ्यता माना जाता था |

लेकिन The Nature में छपे एक लेख में Archaeological Survey of India और IIT Kharagpur के द्वारा की गयी रिसर्च में ये पता चला है कि ये सभ्यता कम से कम 8000 वर्ष पुरानी है |(2)

कार्बन डेटिंग तकनीक के द्वारा जब रिसर्च करने वालों ने अवशेषों का अध्ययन किया तो पाया कि Egyptian Civilization और Mesopotamian Civilization से भी पुरानी है | 

वैज्ञानिको ने इस बात का भी पता लगाया कि Pre-Harappan Civilization, Indus Valley Civilization से भी 1000 वर्ष पहले से शुरू हो गयी थी |

वैज्ञानिको ने इस बात का भी पता लगाया कि Pre-Harappan Civilization, Indus Valley Civilization से भी 1000 वर्ष पहले से शुरू हो गयी थी |

इस नयी रिसर्च के आधार पर हड़प्पा सभ्यता की अनुमानित तिथि इस प्रकार है |

  • Pre-Harappan period: 9,000 ka BP to 8,000 ka BP (7,000 BCE – 6,000 BCE)
  • Indus Valley Civilization: 8,000 ka BP to 2,500 ka BP (6,000 BCE – 500 BCE)

यहाँ ka BP से अभिप्राय है Kilo Annum Before Present जहाँ Kilo Annum का अर्थ है 1000 वर्ष |

अगर आपको ये जानकारी अच्छी लगी तो आप हमें जरूर बताएं और इस लेख को हम भविष्य में अपडेट करते रहेंगे | हमसे जुड़े रहे और पढ़ते रहे ajabgajabfacts |

Mohan

I love to write about facts and history. You can follow me on Facebook and Twitter

4 thoughts on “हड़प्पा सभ्यता के बारे में ज्ञानवर्धक जानकारी”

Leave a Comment