प्रधानमंत्री मुद्रा योजना

पैसों की जरूरत हम सबको होती है | हर इंसान पूरी मेहनत करता है पैसे कमाने के लिए तांकि वो एक अच्छी ज़िंदगी बसर कर सके | कई बार हमें किसी आपातकाल में पैसों की अचानक जरूरत पड़ जाती है तो हम लोन का सहारा लेते हैं |

लोन लेना भी किसी संघर्ष से कम नहीं , हरेक बैंक के लोन देने के लिए अलग अलग मायने तय किये हुए हैं , बहुत सारे लोग उन मायनों पर खरे उतरते हैं पर जिन्हें बैंक से लोन नहीं मिलता उनके लिए क्या ?

सरकार ने आम लोगों की जरूरत को समझते हुए , बहुत तरह की योजनाओं की शुरुआत की है | इनमे से एक योजना है प्रधान मंत्री मुद्रा लोन योजना की | 

आज हम इस योजना के बारे में विस्तार से जानेंगे |

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना कब शुरू हुई

इस योजना की शुरुआत प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने 2015 में की थी | इस योजना के द्वारा उन लोगों को लोन दिया जाता था जो खुद का व्यवसाय शुरू करने की सोच रहे हैं या करना चाहते हैं | इस योजना से लाभार्थी को 10 लाख रुपए तक का लोन दिया जाता है |

इस योजना को 3 भागों में बांटा गया है | अर्थात लाभार्थीओं को 3 भागों में बांटा हुआ है ,

शिशु लोन :

शिशु लोन के तहत अपना कारोबार शुरू करने वालों को लोन दिया जाता है | जो लोग अपना कोई न कोई छोटा सा रोजगार शुरू करना चाहते हैं सरकार उन्हें अधिकतम 50000 तक की लोन राशि दी जाती है तांकि वो अपना व्यवसाय शुरू कर सके | लोन की राशि चुकाने के लिए लाभार्थी को अधिकतम 5 वर्ष का समय दिया जाता है | सरकार के अनुसार लोन पर लिया जाने वाला ब्याज केवल 10% है जो बाकी किसी भी अदारे से बहुत कम है |

किशोर लोन :

कई बार ऐसा होता है के कोई व्यक्ति काम शुरू करता है पर पैसे खत्म हो जाने की वजह से वो काम पूरा नहीं हो पता | सरकार ने ऐसे व्यक्तियों के लिए किशोर लोन योजना को आरम्भ किया | इसके अंतर्गत , जो व्यक्ति लाभ ले सकते हैं जिनका  व्यवसाय तो शुरू हो गया है पर अभी तक स्थापित नहीं हुआ , तो ऐसे में कोई भी व्यवसाय स्थापित करने के लिए सरकार 50000 से लेकर 5 लाख तक का लोन दे सकती है तांकि लाभार्थी बिना किसी देरी के व्यवसाय शुरू कर सके | इसके चुकाने की मियाद और ब्याज बैंक निर्धारित करता है |

तरुण लोन :

अपने एक व्यवसाय शुरू किया जो अच्छे से चल रहा है और अब आप उस व्यवसाय को आगे बढ़ाना चाहते हैं क्योंकि हर कोई चाहता है के उसका व्यवसाय तरक्की करे , ऐसे में आपको पैसों की जरूरत पड़ती है तो सरकार ऐसे में आपकी मदद करने के लिए त्यार है | तरुण लोन योजना के तहत आपको 5 लाख से लेकर 10 लाख रुपए तक का लोन मिल सकता है जो आपके व्यवसाय को बढ़ाने में काफी मदद कर सकता है |

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना क्या है ?

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के लाभ

जब आप किसी बैंक या किसी प्राइवेट संस्था के पास लोन के लिए आवेदन करते हैं तो वहां पर आपसे किसी गवाह की गवाही मांगी जाती है , जो बैंक को या उस संस्था को आपकी गारंटी दे सके , बहुत कम लोग होते हैं जो बैंक की शर्तों को पूरा कर पाते हैं , परन्तु अधिकतर लोगों को उन शर्तों के आधार पर लोन नहीं मिल पाता , ऐसे में सरकार की यह योजना एक वरदान साबित हुई | इस योजना के तहत आप बिना किसी गारंटी के लोन ले सकते हैं और वो भी बहुत कम ब्याज पर |

इस योजना से बहुत सारे छोटे बड़े व्य्वसायकर्मियों को सरकार की तरफ से लोन दिया गया है |

आँकड़ों के मुताबिक पिछले 6 सालों में लगभग 28.68 लाभार्थियों को 14.96 लाख करोड़ रुपए की धनराशि लोन के रूप में दी जा चुकी है और नए व्यवसाय शुरू होने से तक़रीबन 1 करोड़ से अधिक नए रोजगार पैदा हुए हैं | 

सरकार की आत्मनिर्भर भारत वाली योजना को सफल बनाने के लिए इस मुद्रा योजना ने बहुत मदद की है | सरकार से कम ब्याज पर लोन लेकर बहुत सारे छोटे व्यवसाय शुरू हुए हैं , लोग अपने पैरों पर खड़े हुए हैं और अपनी आजीविका कमाने का साधन बना पाए हैं |

इस योजना के तहत जरूरी नहीं के आप एक व्यापारी हों , इस योजना से लोन लेकर आप कर्मशियल वाहन जैसे. ट्रैक्टर, ऑटो, टैक्सी इत्यादि भी खरीद सकते हैं |

लोन लाभार्थी को लोन चुकाने के लिए 5 साल की अवधि दी जाती है परन्तु लाभार्थी इस अवधि को बढ़वा भी सकता है |

महिलाओं के अंदर जागरूकता पैदा करने के लिए और उनको व्यवसाय के लिए प्रेरित करने के लिए सरकार महिलाओं को बहुत कम ब्याज पर लोन देती है , जिससे महिलाओं के ऊपर ब्याज का बोझ कम पड़े और वो और ज्यादा जोश के साथ काम कर सके और देश की प्रगति में अपना योगदान दे सके |

पिछले साल कोरोना महामारी से पूरी दुनिया एक बहुत बुरे समय से गुज़री है | पूरी दुनिया ही लगभग गतिहीन हो गयी थी, कोई भी कारोबार, व्यवसाय नहीं चल रहे थे और करोड़ों की संख्या में लोगों की नौकरियां चली गयी थी |

व्यवसाय बंद पड़ जाने से बहुत सारे लोग आज तक उस मंदी से उभर नहीं पाए हैं, घर का खर्च चलना बहुत मुश्किल हो गया था ऐसे में लोन की क़िस्त देना भी अपने आप में एक बहुत मुश्किल काम हो गया था, सरकार ने इन सब समस्यायों को देखते हुए, इस योजना के तहत लोन लेने वालों को खासकर जो शिशु श्रेणी वाले लाभार्थी हैं उनको 2% ब्याज कटौती का लाभ दिया गया तांकि उनके ऊपर ब्याज का बोझ कम हो और वो अपना व्यवसाय दोबारा शुरू कर सकें |

सरकार देश के युवकों को आत्मनिर्भर करने का बीड़ा उठा चुकी है और इसपर निरंतर काम कर रही है , नौजवानों को नए व्यवसाय  शुरू करने के किये प्रोत्साहित कर रही है क्योंकि अगर नए व्यवसाय शुरू होंगे तो ही लोगों को नौकरियां मिलेगी और देश की तरक्की होगी | बिना गारंटी के मिलने वाले इस लोन का फायदा लाखों युवक उठा चुके हैं और लाखों आने वाले समय में इसका फायदा लेंगे | 

देश की तरक्की की और और नए व्यवसाय और नौकरियां पैदा करने की और सरकार के कदम निरंतर बढ़ते जा रहे हैं जो पूरे विश्व   में सराहना का विषय बने हुए हैं |

Rahul Sharma

हमारा नाम है राहुल,अपने सुना ही होगा। रहने वाले हैं पटियाला के। नाजायज़ व्हट्सऐप्प शेयर करने की उम्र में, कलम और कीबोर्ड से खेल रहे हैं। लिखने पर सरकार कोई टैक्स नहीं लगाती है, शौक़ सिर्फ़ कलाकारी का रहा है, जिसे हम समय-समय पर व्यंग्य, आर्टिकल, बायोग्राफीज़ इत्यादि के ज़रिए पूरा कर लेते हैं | हमारी प्रेरणा आरक्षित नहीं है। कोई भी सजीव निर्जीव हमें प्रेरित कर सकती है। जीवन में यही सुख है के दिमाग काबू में है और साँसे चल रही है, बाकी आज कल का ज़माना तो पता ही है |

Leave a Comment